शनिवार, 15 जनवरी 2011

!! मन की बात !!

******************** !! मन की बात !! ********************
आज शाम को मैं एक रेलवे स्टेशन पर था.
सहसा मैंने देखा कि वहां लोग,3 भेड़ों को घसीट कर ले जा रहे हैं.
भेड़ें चलने को तैयार नहीं थी,शायद उन्हें भी अपनी 'मौत' का आभाष हो गया था! 
वे भेड़ें कान पकड़ कर,पाँव पकड़ कर घसीटी जा रही थी!
मेरा मन द्रवित हो उठा,लेकिन मैं कुछ भी कर ना सका !
मूक प्राणियों के साथ ऐसा बर्ताव क्यों......?
मैं अब भी नहीं समझ पा रहा हूँ कि ऐसी स्थिति  में आखिर करना क्या चाहिए? 
******************************************

1 टिप्पणी:

  1. हिन्दू धरम के अनुरूप सब में जीव है ...आप बहुत ही संवेदन शील है ...सो यह बात मन को लग लई

    उत्तर देंहटाएं